जानिए Feminism और Communism सचान जी के द्वारा आसान शब्दों में ।

Feminism और Communism समझें बहुत ही आसान शब्दों में।


नए समाज की वह विधा जिसमें हर काम में उंगली करना सिखाया जाता है उसे Feminism और Communism कहते हैं।
इसका एक उदाहरण प्रस्तुत करता हूँ।।।

एक बार एक बहुत ही ज्ञानी पढ़ी लिखी महिला(रोमिला थापर टाइप) घाटमपुर (Ghatampur) गाँव पहुँची हालाँकि ये अब गाँव नहीं रहा,कस्बा हो चुका है बस मोदी जी की नजर पड़ जाए तो Smart City भी बन जाये😂😂।

तो हुआ यूँ कि मैडम पहुँची सचान जी के घर। अरे हम हमारी बात नहीं कर रहे हैं वो कोई और सचान जी थे।

तो सचान जी की लाड़ली बिटिया रानी घर मे उत्पात मचाये हुई थी पानी पीने को लेकर। पिछले 20 मिनिट से उसे कोई पानी नहीं पीने दे रहा था, अब इसे महादेव की कृपादृष्टि कहिए या संयोग ,उसी समय वो ज्ञानी महिला वहाँ पहुँच गईं।




बच्ची को पानी के लिए तरसता देख मैडम के अंदर का Feminisn और Communism वाला कीड़ा कुलबुला गया।
लगी मैडम तुरन्त कैमरा चालू करके वीडियो बनवाने और चिल्लाने।।
देखिये कैसे इस बच्ची के ऊपर अत्याचार किया जा रहा है ,पानी के लिए तरसाया जा रहा है। ये देखिये यहाँ पानी का भंडार भरा हुआ है ।
ये देखिये यहाँ बच्ची का कथित भाई पानी से भर-भर कर नहाने में लगा है। कितनी बर्बादी हो रही है पानी की। एक दिन नहीं नहायेगा तो मर नहीं जाएगा। हम प्रगतिवादी नारियां तो हफ्तों नहीं नहाती हैं।
लगता है ये बच्ची इस पुरुषवादी वर्चस्व कायम रखने वाले वंयक्ति कि असली बेटी नहीं है। तो फिर कौन है इस बच्ची का बाप .......

तभी सचान जी बोले मैडम हमारी भी कछु सुन लेओ।

ये हमारी लाड़ली बिटिया है और इसने अभी कुछ समय पहले मूँगफलियाँ खायीं थी इसलिए हम इसे पानी नहीं दे रहे थे ताकि ये बीमार न पड़ जाये।
हमारे पूर्वजों ने ये नियम बनाये थे और आपकी विज्ञान की भाषा मे बताए तो इसे सर्दी गर्मी से बचाने के लिए पानी नहीं दे रहे।

और सचान जी ने उठाया फावड़ा और दौड़ा लिया उस ज्ञानी महिला को ...,😂😂


Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

Fraud through Amazon

Amazon के नाम के आधार पर चालू है Fraud.बन रहे हैं लोग बेवकूफ, लग रहा है हजारों का चूना।


मित्रों, चीन(China) के द्वारा फैलाई गई इस कोरोना महामारी के कारण पूरे वैश्विक बाजार में मंदी छाई हुई है।

हमारी नई जीवनशैली में इतने अधिक खर्च हैं कि उन्हें सम्भालने के लिए हमारी नियमित आय कम पड़ जाती है। इनमें से अधिकांश खर्च गैरजरूरी होते हैं लेकिन हम उन्हें करते हैं अपनी झूठी शान ,झूठे दिखावे या बस रिश्तेदारों को दिखाने के लिए। 
हम चाहें तो उन खर्चों को कम भी कर सकते हैं परन्तु हमें ऐसा लगता है कि यदि हमने वो खर्च नहीं किया तो रिश्तेदार, आसपास के लोग, यार-दोस्त हमें कंजूस या पिछड़ा हुआ समझेंगे।

खैर, ईश्वर आप सभी को सद्बुद्धि दे।

मेरा आज का विषय आपको खर्चे पर ज्ञान देना नहीं हैं। 

मेरे विषय है आपको जागरूक करना ताकि आप इस महामारी के दौर में जहां हम लौकडाउन की स्तिथि से पूरी तरह उबरे नहीं हैं, किसी जालसाजी(Fraud) का शिकार न हो जाएं।

ऐसा ही आज का विषय है Amazn के द्वारा जालसाजी।

हाँ जी वही आपकी अपनी दुकान ,जिसका प्रचार दिनभर टेलीविजन(Television) पर आता रहता है और आजकल तो उस पर Great Indian Festival Deal भी चल रही है। जहाँ आपको HDFC Bank के क्रेडिट (Credit)और डेबिट (Debit) Cards पर भारी-भरकम छूट(Discount) भी दिया जा रहा है।

क्या आपने ध्यान दिया मैंने Amazon(अमेज़न) की स्पेलिंग(Spelling) क्या लिखी ??
??
??
नहीं, ज्यादातर लोगों ने ध्यान नहीं दिया होगा। 

तो दोस्तों Amazon के नाम पर आजकल कुछ लोग Facebook के जरिये जालसाजी कर रहे हैं।
जैसा कि आपको पता है इस लौकडाउन के दौर में हर कोई व्यापार(Business) नए-नए तरीके खोज रहा है, उसी चीज का फ़ायदा ये जालसाज उठा रहे हैं।

ये लोग Facebook पर Amazn Ship या Amzn ship के नाम से प्रचार देते हैं और लोगों को लोक लुभावन ऑफर देते हैं कि आप Amazon(असली वाली) के साथ जुड़कर व्यापार करिए। 5हजार या 10 हजार में फ्रेंचाइजी(Franchise) ले लीजिए।
साथ ही साथ ये आपको Amazon(असली वाली) का डिलीवरी पार्टनर भी बनाने की स्कीम(Scheme) बताते हैं।

यहाँ मैं कुछ photos share कर रहा हूँ जो उस fraud ने मुझे भेजी थीं ताकि मैं उसकी बात और विश्वास कर लूँ।

















तो मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी लोगों की जानकारी के लिए बता दूँ की Amazon India इस तरह का कोई भी ऑफर नहीं देती है। साथ ही साथ Amazon अपना कोई भी प्रचार Facebook या अन्य किसी Social Media platform के जरिये नहीं करती है।

यदि आपको Amazon के किसी भी Offer या Service के बारे में जानना हो तो उनकी वेबसाइट https://www.amazon.in/ Visit कीजिये या उनके Amazon India Customer Service पर बात कीजिये।

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

नरेन्द्र मोदी:- नए भारत के राष्ट्र निर्माता

हे भारत के राष्ट्र निर्माता,
  मोदी तुमको नमन करूँ,
    जन्मदिन की मैं ढेर बधाई,
      अपने राष्ट्र संग भेंट करूँ,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

2014 में जब बने थे PM,
  भारत का तब भाग्य जगा था,
    खान्ग्रेस UPA शासन,
      भारत में कोहराम मचा था,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

भ्र्रष्टाचार की लूट मची थी,
  आतंकवाद सर चढ़ बोल रहा था,
    कहीं होते थे बम्ब धमाके,
       26 / 11 का ख़ौफ़ रहा था,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

जब संसद पर पहुंचे मोदी जी,
  जब संसद पर शीश झुकाया,
    देवलोक से फूल बरस रहे थे,
      माँ भारती का पुत्र जो आया,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹



नोटबन्दी का प्रहार था पहला,
  हर भृष्टाचारी घबराया ,
    नोटबन्दी हुई थी भारत में,
      पर पाकिस्तान कंगाल बनाया,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

भारत की मुद्रा का जाली,
  कारोबार था जो पाकिस्तान का,
    रद्दी जाली नोट हो गए,
      दिवाला निकला पाकिस्तान का,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

डोकलाम में पापी चीन ने,
  जब भारत में कदम बढ़ाया,
    अंगद रूप धरा मोदी ने,
      हठी चीन को थूक चटाया,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

जब उड़ी सेक्टर में नीच पाक ने,
  20 जवान धौखे से मारे,
    सर्जिकल स्ट्राइक भारत की,
      20 के बदले 40 मारे,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

जब पुलवामा पर्वत चौटी पर,
  44 जवानों का खून बहा था,
     बालाकोट की एयर स्ट्राइक,
       आतंकवाद को कुचल दिया था,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

400 आतंकी बालाकोट में,
  घर में घुस कर मारे थे,
    सारी दुनिया देख रही थी,
      मोदी  मोदी जयकारे थे,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

तीन तलाक मुस्लिम नारी का,
  दर्द वो तुमने जाना था,
    संसद में बिल पास कराके,
      तब मोदी जी माना था,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

धारा 370 ,35 A,
  कूड़े के ढेर में फेंक दई थी,
     CAA को पास कराया,
       वंचित को ये भेंट दई थी,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

जब हठी चीन ने गलवान घाटी में,
  अपने निर्लज्ज पैर जमाए,
    भारत की वीरों की सेना ने,
      50 चीनी जहन्नुम पहुंचाए,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
    
हे भारत के बाशिन्दों,
  इस मोदी को तुम ना खो देना,
    ये राष्ट्र धरोहर मोदी है,
      ये राष्ट्र धरोहर खो ना देना ।

वंदेमातरम जय श्री राम जय श्री कृष्ण जय श्री राम ।

Written by Ramkumar Yadav .

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

सस्ता लोन ,जालसाजी का नया तरीका

नमस्कार दोस्तों,

आज मैं आप सभी को जालसाजी का एक नया तरीका बताने जा रहा हूँ जिसका उपयोग फेसबुक(Facebook) के माध्यम से लोगों को ठगने के लिए किया जा रहा है।

आजकल Facebook पर कई तरह के विज्ञापन देखने को मिलते हैं जिनमें बहुत ही कम ब्याज दरों में लोन (Loan) देने की बात कही जाती है। उधारणतयः -




साधरणतयः ब्याज दर 7% से ऊपर ही होती है और ये ब्याज दरें आपके लोन(Loan) के प्रकार पर निर्भर करती हैं और सभी बैंकें Loan देने से पहले आपका CIBIL Score, आपका पिछला रिकॉर्ड, आपकी आमदनी(Income) इत्यादि चीजों पर गौर करती हैं और उसके आधार पर निश्चित करती हैं कि आप लोन के पात्र हैं या नहीं हैं। और यदि पात्र हैं तो कितने रुपयों के पात्र हैं।

परन्तु Facebook पर मैंने कई प्रचार देखे जिनमें 4%वार्षिक ब्याज दरों पर लोन दिलाने के लिए कह रहे हैं। वो लोग तो यहाँ तक दावा करते हैं कि खराब CIBIL Score वालों तक को भी लोन दिला देंगे।

यहीं से प्रारम्भ होता एक लालच का दौर और जालसाजों का जाल।

वो फिर ग्राहकों को प्रोसेसिंग fees देने के लिए कहते हैं और आश्वश्त करते हैं कि जैसे ही आप प्रोसेसिंग fee देंगे ,1से 2 घंटों में आपके Bank Account में लोन की राशि भेज दी जाएगी। बस ऐसे ही लोग ठग जाते हैं जबकि प्रोसेसिंग fee का एक नियम होता है।

जब भी कोई बैंक आपको लोन देती है तो वो सारी प्रक्रियाएं पूरी होने की बाद आपके Account में पूरी राशि भेज देती है। लोन पर जो प्रोसेसिंग फीस होती है वो आपके पहले महीने की EMI(Installment) में लग कर आती है जिसे आपको भरना होता है।

तो ध्यान रहे दोस्तों जब कभी भी कोई आपको लोन दिलाने के लिए कहे तो कभी भी प्रोसेसिंग फीस अलग से न दें। वो आपके पहले महीने की EMI स्टेटमेन्ट में लग कर आएगी और भरनी होगी।

मैं कुछ फेसबुक पेजों के लिंक शेयर कर रहा हूँ। आप उन पेजों पर visit करके सभी ग्राहकों के comments पढ़ सकते हैं जिससे आपको पता चलेगा जालसाजी के बारे में। ये सभी पेज नामी कम्पनियों के logo का उपयोग करते हैं जिससे ग्राहकों को भरोसा भी हो जाता है।




आशा करता हूँ कि आपको ये जानकारी अच्छी एवं उपयोगी लगी होगी। 

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

कोरोना वायरस और हिन्दू(सनातन संस्कृति) की अटूट लड़ाई।


दोस्तों,कोरोना काल मे प्रत्येक व्यक्ति भिन्न-भिन्न कारणों से परेशान है लेकिन इस कोरोना ने हमें सनातन संस्कारों के महत्व को भी समझा दिया है। पढ़िए इस कविता को जिसमें श्री रामकुमार यादव जी ने सनातन संस्कृति के महत्व को बड़े ही आसान शब्दों में पिरोया है।


सुप्रभात प्रातः वंदना जय श्री राम ।

🙏🌹🌷💐🌺🌹🌷💐🌺🙏

कोरोना वायरस हिन्दू के,
  संस्कार बताने आया है,
    हाथ जोड़ नमस्कार करो,
      जग को सिखलाने आया है,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

जो मांस मछली और अंडे को,
  अपना आहार बनाते हैं,
    किसी जीव की हत्या कर,
     जो अपना पेट भर जाते हैं,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

जीने का अधिकार सभी को,
  ये गीता में समझाया है,
    भगवान कृष्ण ने अर्जुन को,
     कुरुकक्षेत्र में बतलाया है,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

कोरोना वायरस मांस भक्षण से,
  इस धरती पर आया है,
    पर मानव को तो प्रभु ने,
      बस शाकाहार बनाया है,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

मरना तो सबको ही है,
  पर क्यों उनको दफनाते हैं,
    जिस वायरस से मरा वो मानव,
     वो वायरस जिंदा रह जाते हैं,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

इसीलिए तो हम हिन्दू,
  अग्नि संस्कार कराते हैं,
     सब वायरस जल जाते हैं,
       ये दुनिया को सिखलाते हैं,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

कोरोना वायरस दुनिया को,
  हिन्दू संस्कार सिखाने आया है,
    हाथ जोड़ नमस्कार करो,
      दुनिया को बताने आया है,
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

इसीलिए मैं हिन्दू हूँ,
  मैं गर्व धर्म पर करता हूँ,
    हिन्दू धर्म सर्वश्रेष्ठ धर्म,
      मैं नमन धर्म को करता हूँ ।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

कोरोना वायरस हिन्दू के,
  संस्कार बताने आया है,
    हाथ जोड़ नमस्कार करो,
     जग को सिखलाने आया है ।

वन्देमातरम!!


जय श्री राम 🙏🙏🙏

Written by Ramkumar Yadav

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

एक श्लोकी रामायण । Ek Shloki Ramayan

सभी सनातनी भाइयों एवं बहनों को मेरी ओर से राम-राम।

एक सनातनी होने के नाते हम सभी को रामायण, महाभारत, भगवदगीता, पुराण इत्यादि ज्ञान के स्त्रोतों के विषय मे एवं उनकी शिक्षाओं की उचित जानकारी रहती है। इन्हीं शिक्षाओं को अपने जीवन मे आत्मसात करके हम निरन्तर धर्म के मार्ग में प्रसस्त होते हैं और एक संयमी समाज का निर्माण करते हैं।

आपको जानकर अत्यंत खुशी होगी कि सम्पूर्ण रामायण को एक श्लोक में ही संक्षिप्त कर दिया गया है।

एक श्लोकी रामायण

⛳#जय_जय_राम⛳
⛳#जयश्रीराम⛳

आदौ राम तपो वनादि गमनम् हत्वा मृगं काचनम् !
वैदेही हरणम् जटायु मरणं सुग्रीव संभाषणम् !!
बाली निग्रहणम् समुद्र तरणं लंकापुरी दाहनम्! 
पश्चात् रावण कुम्भकर्ण हननं एताध्दि रामायणम् !!



अर्थ :-  श्रीराम वनवास गए, वहां उन्होने स्वर्ण मृग का वध किया। रावण ने सीताजी का हरण कर लिया, जटायु रावण के हाथों मारा गया। श्रीराम और सुग्रीव की मित्रता हुई।  श्रीराम ने बालि का वध किया। समुद्र पार किया। लंका का दहन किया। इसके बाद रावण और कुंभकर्ण का वध किया। 

सुबह उठ कर स्नान करने के बाद घर के मंदिर में दीप जलाएं, उसके बाद ही एक श्लोकी रामायण का पाठ करना चाहिए

आप नित्य नियम से एक श्लोकी रामायण का मंत्र जाप भी कर सकते हैं। 108 बार इस मंत्र का जाप करें।

यूँ तो लोग कहते हैं कि 7,14 या 21 बार भी मंत्र जाप कर सकते हैं परन्तु शास्त्रानुसार 108 बार मंत्र जाप ही उचित है।

।।जय जय श्री राम।।

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

Is Nivea Cream best for all types of skin ?


 Best and Budget cream with high results!! See all the differences.
Reviewed in India on 27 December 2019
Style: Pack of 1Pattern: Multi Purpose Creme
To know everything (usage and differences),Kindly read the review till end.

My Story is very funny about the  experience with this valuable Cream.


Image credit-- Amazon.in

My GF now wife told me about her skin problem. She tried many famous creme but no result. Then I took responsibility to find-out a suitable creme for her. 
I am a regular user of Amazon so I tried to find out the suitable cream on Amazon.The reviews of the products are very helpful.

I spent almost 5 days( more than 12 hours) to read different kind of reviews to find out the exact cream. Finally I stopped my search on this NIVEA Crème, All Season Multi-Purpose Cream, 200ml and placed the order on 20 January 2017.
She found it very useful after some usage and now we are regular user of this creme.

Really Amazing Cream. If you are a family of 5 it's 200ml pack is sufficient to fulfill the winter season in North India.

My skin is oily but later I started using on her request and the results are best . So it's all Skin Types. No matter what type of skin you have.

She use it in every season then I came to know that it's All Season Multi-Purpose Cream. That's also the best part.

Initially I found it sticky but now I am habitual and the results are superb. For best results you must follow the proper procedure to use it.
Step 1:-
Scoop product with clean hands.
Step 2:-
Rub it on your palms to spread evenly.
Step 3:-
Gently massage all over your face and body.
Step 4:-
Use daily for soft, smooth skin.

For more better results use it in night(or anytime) before go to bed. Simply wash your face and hand gently then apply the cream as per the steps mentioned above.

I don't recommend to use it before party or any occasion because you may feel sticky. For better results kindly follow the process explained above.
If you use this cream properly before go to bed, you will not require the lip balm as well because it will keep your lips smooth.
NIVEA Creme is a good moisturizer. However, it is sticky and looks greasy on oily skin. If you have oily skin, you can't handle it in summer everytime however it can be used in night before bed.

Some people think that it will help you to change the color of your skin but it's not fact. NIVEA never claimed that.
(except whitening and tanning lotions) do not have any influence on the colour of the skin. So don't think more about that. However it will give smooth tone to the face which is plus point.

I didn't see anyone having issues with this cream . In case you feel burning, stinging, redness, or irritation persist or worsen, tell your doctor or pharmacist promptly.

Overall it's best and budget cream. Simply use it as per the prescribed procedure and get best results.

NIVEA CREME VS NIVEA SOFT – WHAT’S THE DIFFERENCE?


The main difference between NIVEA Creme and NIVEA Soft is their formula.

NIVEA Creme is a water-in-oil emulsion.

This means it contains a number of water droplets embedded in oil. As a result, your skin first receives intensive care from the outer oil phase and then is supplied with moisture.

In contrast, NIVEA Soft is an oil-in-water emulsion.

This formula contains small oil droplets that have been embedded in water. So, your skin absorbs the outer water phase of NIVEA Soft quickly and makes your skin feel instantly refreshed and moist.

Following this, the fine oil droplets care for your skin.

NIVEA CREME VS NIVEA SOFT – WHAT SKIN NEEDS DO THEY SUIT?

Firstly, NIVEA Creme and NIVEA Soft are suitable for every skin type. Your personal skincare needs and preferences will influence which product you need.

NIVEA CREME::##

This luscious and thick cream is perfect for the following skincare needs:

Your skin needs overall intensive and rich care.
You have particularly dry areas of skin, such as your elbows, knees, hands or feet.
Your lips need an extra boost of moisture.
Your face breaks out in extremely dry, red patches.

NIVEA SOFT ::##

This moisturiser is easier to spread and is ideal some other skin care needs, including:

Your entire body needs moisturising following a shower.
You need a fast absorbing moisturiser for on the go.
Your face requires light weight hydration.
You need a convenient daily hand cream.

Thank you

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

एक ऐसा मंदिर जहाँ ब्राह्मण कुल में जन्म लेने वाला व्यक्ति नहीं करता है पूजा-अर्चना,जानिए ...........

ब्रह्मांड को उत्पन्न करने वाली माँ कुष्माण्डा।


Source credit :- Google

नवरात्रि में चौथे दिन देवी को माँ कुष्माण्डा के रूप में पूजा जाता है। माँ दुर्गा का चौथा स्वरूप हैं माँ कुष्माण्डा।जब सृष्टि नहीं थी, चारों तरफ अंधकार ही अंधकार था,तब इन्हीं देवी ने अपने ईषत हास्य से ब्रह्माण्ड की रचना की थी।इसीलिए इसे सृष्टि की आदिस्वरूपा या आदिशक्ति कहा जाता है।इनकी मंद व हल्की हँसी के द्वारा ब्रह्माण्ड को उत्पन्न करने के कारण इस देवी को कुष्माण्डा नाम से अभिहित किया गया है। सृष्टि की रचना के बाद उसमें प्रकाश भी इन्हीं के कारण आया है,इसीलिए ये सूर्यलोक में निवास करती हैं।

कुष्माण्डा देवी मंत्र:-

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च।

दधाना हस्तपद्माभ्यां कुष्माण्डा शुभदास्तु मे।।

Pic credit:- Google

अर्थ-  जो कलश मदिरा से भरा हुआ है, रुधिर अर्थात रक्त से लथपथ है। ऐसे कलश को माँ भगवती ने अपने दोनों कर कमलों में धारण किया है। ऐसी माँ कुष्माण्डा मुझे शुभता अर्थात कल्याण प्रदान करें।

माँ कुष्माण्डा का स्वरूप:-

कुष्माण्डा देवी को आठ भुजायें हैं,जिनमें कमंडल, धनुष-बाण,कमल पुष्प, शंख, चक्र,गदा और सभी सिद्धियों को देने वाली जपमाला है। देवी माँ के पास इन सभी चीजों के अलावा हाथ में कलश भी है,जो सूरा से भरा हुआ है और रक्त से लथपथ है। इनका वाहन सिंह है और इनके इस स्वरूप की पूजा करने पर भय से मुक्ति मिलती है। इन भक्ति से आयु, यश और आरोग्य की वृद्धि होती है।माता कुष्माण्डा सिंह पर सवार होती हैं।

पिण्ड के रूप में लेटी माँ, चरणों से करती हैं अमृत वर्षा,जो जल है अत्यंत फायदेमंद आँखों के लिए :-

कानपुर, उत्तरप्रदेश से करीब 40 किलोमीटर दूरी पर घाटमपुर तहसील में माँ कुष्माण्डा का मंदिर है। यह मंदिर लगभग 1000 साल पुराना है। इसकी नींव सन 1380 में राजा घाटमदेव जी रखी थी।इसमें एक चबूतरे में माँ की मूर्ति लेटी थी। सन 1890 में घाटमपुर के कारोबारी चंदीदीन भुर्जी ने मंदिर का निर्माण करवाया था। यह बहुत ही प्राचीन मंदिर है।

Pic credit:- Google

एक पिंड के रूप में लेटी हुई माँ कुष्माण्डा की प्रतिमा से लगातार पानी रिसता रहता है और जो भक्त उस जल को ग्रहण करता है उसका जटिल से जटिल रोग दूर हो जाता है। हालांकि यह अभी तक रहस्य बना हुआ है कि पिण्डी से जल कैसे निकलता है। कई वैज्ञानिकों ने शोध किया, लेकिन माँ के इस चमत्कार को खोज नहीं पाए।

अनोखा मंदिर जहाँ सिर्फ़ माली कराते हैं पूजा-अर्चना

माँ कुष्माण्डा देवी मंदिर में पुजारी कोई पण्डित नहीं है बल्कि माली ही पूजा कराते हैं। यहाँ दसवीं पीढ़ी के पुजारी माली श्री गंगाराम जी हैं जो माता रानी के दरबार में पूजा-पाठ करवाते हैं। सुबह स्नान-ध्यान कर माता रानी के पट खोलना, पूजा-पाठ के साथ हवन करना प्रतिदिन का काम है। मनोकामनाएं पूरी होने पर जो भक्तगण आते हैं, हवन पूजन करवाते हैं।

पूजा का महत्व :-

देवी कुष्माण्डा भय दूर करती हैं। जीवन में सभी तरह के भय से मुक्त होकर सुख से जीवन बिताने के लिए ही देवी कुष्माण्डा की पूजा की जाती है। देवी कुष्माण्डा की पूजा से आयु, यश, बल और स्वास्थ्य में वृद्धि होती है। इनकी पूजा से हर तरह के रोग, शोक औऱ दोष दूर हो जाते हैं। किसी तरह का क्लेश भी नहीं होता है। कुष्माण्डा देवी की पूजा से समृद्धि और तेज प्राप्त होता है।

लोककथा :-

श्री गंगाराम जी ने बताया कि करीब एक हजार साल पहले घाटमपुर गाँव जंगलों से घिरा था। इसी गाँव का एक ग्वाला कुढ़हा गाय चराने के लिये आता था। शाम के वक़्त जब वह घर जाता औऱ गाय से दूध निकालता तो गाय एक बूंद दूध नहीं देती। उसको शक हुआ औऱ उसने छिप कर देखा कि गाय एक स्थान पर सारा दूध गिरा देती है। ग्वाले ने उस स्थान पर जाकर प्रणाम किया तभी माँ ने प्रकट होकर ग्वाला से कहा कि मैं माता सती का चौथा अंश हूँ। ग्वाले ने यह बात पूरे गाँव को बताई औऱ उस जगह खुदाई की गई तो माँ कुष्माण्डा देवी की पिंडी निकली। गांववालों ने पिंडी की स्थापना वहीं करवा दी औऱ माँ की पिंडी से निकलने वाले जल को प्रसाद स्वरूप मानकर पीने लगे।

शिव महापुराण के अनुसार कथा:-

माता कुष्माण्डा की कहानी शिव महापुराण के अनुसार, भगवान शंकर की पत्नी सती के मायके में उनके पिता राजा दक्ष ने एक यज्ञ का आयोजन किया था। इसमें सभी देवी-देवताओं को आमंत्रित किया गया था, लेकिन शंकर भगवान को निमंत्रण नहीं दिया गया था। माता सती भगवान शंकर की मर्जी के खिलाफ उस यज्ञ में शामिल हो गईं। माता सती के पिता ने भगवान शंकर को भला-बुरा कहा था, जिससे आक्रोशित होकर माता सती ने यज्ञ में कूद कर अपने प्राणों की आहुति दे दी। माता सती के अलग-अलग स्थानों में नौ अंश गिरे थे। माना जाता है कि चौथा अंश घाटमपुर में गिरा था। तब से ही यहीं माता कुष्माण्डा विराजमान हैं।

प्रसाद में पुआ, गुड़ और चना चढायें:-

श्री गंगाराम जी ने के अनुसार यदि कोई भक्त सूर्योदय से पहले स्नान कर छह: महीने तक इस नीर का इस्तेमाल किसी भी बीमारी में करे तो उसकी बीमारी शत प्रतिशत ठीक हो जाती हैं। साथ ही नवरात्रि में हर रोज भक्त माँ के दरबार में हाज़िरी लगाएँ और प्रसाद स्वरूप पुआ, गुण और चना चढ़ाए, कुष्माण्डा माता भक्त की हर मनोकामना पूरी कर देती हैं।
देवी माँ को लाल वस्त्र, लाल पुष्प, लाल चूड़ी भी अर्पित करना चाहिए। देवी योग-ध्यान की देवी भी हैं। देवी का यह स्वरूप माँ अन्नपूर्णा का भी है। उदराग्नि को शान्त करती हैं। पूजन के बाद देवी के मंत्र का जाप करें।

फूलनदेवी और ददुआ भी माँ के थे भक्त :-

श्री गंगाराम जी ने बताया कि फूलन देवी भी माँ के दरबार मे नवरात्रि में एकदिन के लिये जरूर आती थी। फूलनदेवी ने आत्मसमर्पण की बात भी माँ के दरबार में कही थी। आज भी फूलनदेवी के माँ के दरबार में बाँधे घण्टे गवाही देते हैं। वहीं तकरीबन तीस सालों तक बीहड़ का शेर रहा ददुआ भी माँ का भक्त था। वह हर नवरात्रि को माता रानी के दर्शन करने करने के लिये आता था और कन्याओं को भोज कराता था।

You may also like the following posts:-

क्या होगा अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस की वजह से गए लॉकडाउन का असर ?

मोहब्बत में इंकलाब आ जाएगा।

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading

क्या असर होगा अर्थव्यवस्था पर लॉकडाउन का ?

वुहान से बीजिंग -  1051 कि.मी.
वुहान से ज़हेजिआंग- 608 कि.मी.
वुहान से हांगकांग- 918 कि.मी.
वुहान से शंघाई - 691कि.मी.

वुहान से अमेरिका(न्यूयॉर्क) -  12063कि.मी.
वुहान से हिंदुस्तान(दिल्ली) - 3583 कि.मी.
वुहान से इटली(रोम) - 8687कि.मी.
वुहान से ईरान - 5794कि.मी.
वुहान से ब्रिटेन - 8895कि.मी.


ये हैं कुछ आँकड़े जो बताते हैं चीन के वुहान शहर से उसके अन्य राज्यों और विश्व के तमाम देशों के बीच की दूरी। कुछ स्क्रीनशॉट्स भी संलग्न हैं जिनमें आप अन्य प्रमुख देशों और शहरों के बीच की दूरी भी देख सकते हैं।
  


इन आंकड़ों से आप आसानी से समझ सकते हैं कि इस कोरोना वायरस का असर चीन के अन्य राज्यों में न के बराबर देखने को मिला जबकि वो सब निकटवर्ती हैं और वहीं दूसरी ओर विश्व के तमाम बड़े विकसित देशों की स्वास्थ्य व्यवस्था, अर्थव्यवस्था सब चरमरा चुकी है इस वायरस के कारण।
इटली और अमेरिका जैसे देशों के हालात बिल्कुल इमरजेंसी जैसे हो चुके हैं।
भारत में भी ये वायरस धीरे-धीरे अपने पैर पसार रहा है हालांकि भारत सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर पूरे भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन  घोषित कर दिया है।

लेकिन इन सब बातों से हटकर क्या आपने सोंचा कि इतनी दूरी होने के बावजूद यह वायरस अन्य देशों में भयावह होता जा रहा है जबकि चीन अन्य निकटवर्ती राज्यों में इसका असर न के बराबर हैं ?
वहीं दूसरी ओर एक नए वायरस हन्ता का आगमन भी हो चुका जो चूहों के जरिये फैलता है हालांकि WHO से पुष्टि होना बाकी है लेकिन इन तरह के नए वायरसों का इंसानी दुनिया में संकेत है कि या तो ये प्रक्रति का कहर है या फिर चीन की गहरी साज़िश।

ऐसा प्रतीत होता है कि चीन के पास इस वायरस की वैक्सीन पहले से ही है लेकिन वो इंतेजार कर रहा है कि कब विश्व के अन्य देशों में स्तिथि विकराल हो औऱ हाहाकर मच जाए तब चीन उस वैक्सीन की सौदेबाज़ी कर सके। मेरी इस बात को आप ऐसे समझ सकते हैं कि चीन जैसा हिंदुस्तान विरोधी देश आज कह रहा है कि सिर्फ़ भारत इन वायरस से लड़ और जीत सकता है। ये साबित करता है कि कहीं न कहीं चीन सुरक्षित खेल खेलना चाहता है ।
महामारी बढ़ी तो चीन वैक्सीन बेच कर फायदा कमाएगा और अगर भारत ने इसपर विजय पा ली तो चीन यह कह कर दिल जीत लेगा कि हमें तो पहले से ही भारत पर भरोसा था।

हर स्तिथि में चीन सहानुभूति बटोरेगा लेकिन अगर भारत देश ने कोरोना वायरस पर विजय पा ली तो ये भारत के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा।
ये जीत भारत को विश्व के समक्ष विश्वगुरु की तरह पेश करेगी। सम्पूर्ण विश्व क़ी नजरें भारत पर ही होंगी चाहे वो मार्गदर्शन के लिए हो या व्यापार के लिए। वह स्तिथि भारत के हर नागरिक की प्रतिव्यक्ति आय को बढ़ाने और भारत को एक विकसित राष्ट्र बनने में मदद करेगी। भारतीय सनातन संस्कृति की महत्ता विश्व बिरादरी को समझ आएगी औऱ भारतीय संस्कृति का महत्व बढ़ेगा।

हे भारतवर्ष के महान नागरिकों, अपने-अपने घरों में रहिए।भारत सरकार के दिशानिर्देशों का यथावत पालन कीजिये क्योंकि आज किया गया त्याग ,भारतवर्ष के लिए एक स्वर्णिम भविष्य की नींव रखेगा।

जय हिंद जय भारत
वन्देमातरम

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

COVID-19 ,क्या ये साजिश ही वैश्विक संगठनों की ताकि चीन को अलग-थलग किया जा सके?

क्या ये साजिश ही वैश्विक संगठनों की ताकि चीन को अलग-थलग किया जा सके?

आज के परिदृश्य में स्पष्ट है कि विश्व का प्रत्येक देश औऱ उसके नगरिक चीन को कोरोना वायरस का जिम्मेदार मान रहे हैं। कुछ लोग तो आवाज उठा रहे हैं कि चीन पर हर तरह से प्रतिबंध लगा दिया जाए उसके इस नीच कार्य के कारण।



यद्यपि कुछ लोग इसका कारण अमेरिका को मान रहे हैं ।
यदि आप चीन के  पिछले कारनामों को देखें तो ऐहसास होता है कि इस वायरस के पीछे चीन का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता है।

चीन औऱ अमेरिका दोनों ही अतिमहत्वाकांक्षा वाले देश हैं जिनके लिए वैश्विक दबदबा हर स्तिथि में आवश्यक है औऱ इसके लिए वो बड़े से बड़ा निर्णय लेने से नहीं कतराते फिर चाहे उसके लिए उन्हें अपने सैनिकों की जान ही क्यूँ न गंवानी पड़े लेकिन दोनों देशों की वैश्विक दबदबे को लेकर सोंच में थोड़ा अंतर है।

जहाँ अमेरिका कम नुकसान में अधिक फायदे की सोंच रखता है वहीं चीन इस बात से इत्तेफाक नहीं रखता। चीन के लिए उसका सुनहरा भविष्य ही मायने रखता है।
दोनों देशों की फितरत के आधार पर चीन पर शक गहरा जाता है कि शायद चीन ही इसके पीछे जिम्मेदार है।

परन्तु खोज के आधार पर ये पाया गया कि इस वायरस को किसी लैब में नहीं बनाया गया है बल्कि यह कोरोना वायरस श्रेणी का ही एक वायरस है।
अभी तक ये माना जा रहा है कि यह वायरस चीन के वुहान शहर से फैला लेकिन जिस व्यक्ति में सबसे पहले covid-19 के लक्षण दिखे उसका वुहान की मृत और जीवित जानवरों की बाजार से कोई लेना देना नहीं था तो अभी तक इस वायरस के जनक क्षेत्र के विषय मे ज्यादा जानकारी नहीं है।

इस वायरस की वैक्सीन सन 2021 तक आने की सम्भावना है,तब तक के लिए अपना ख्याल रखिये,सरकार के निर्देशों का पालन कीजिये।

धन्यवाद।

ऋषभ सचान

Friends If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

कोरोना वायरस के दौर में घर बैठे पैसे कमायें, कैसे??

दोस्तों, कोरोना वायरस के इस दौर में सरकार ने लगभग पूरे देश में lock down किया हुआ है तो अब ऐसे में लोगों का घर पर टाइम नहीं व्यतीत हो रहा है और सभी मौके की तलाश में हैं कि घर बैठे पैसे कैसे कमायें।

Source: Google

तो दोस्तों ज्यादा दिमाग न चलाये क्योंकि lock down की वजह से हर तरह का व्यापार बन्द है तो तुम्हें कौन घर बैठे पैसे देगा। चलो कुछ समय व्यतीत करो घर वालों के साथ औऱ पढ़ो इस पोस्ट को बहुत उपयोगी है:-

क्या होगा भविष्य में ?? क्या होगा इस महामारी से जंग जीतने के बाद??

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

क्या होगा भविष्य में ?? क्या होगा इस महामारी से जंग जीतने के बाद??

ईश्वर जाने आगे क्या होगा परन्तु आज रूह काँप जाती है आने वाले भयंकर मंजर को सोंचकर.......


आज पूरे देश में जनता कर्फ़्यू है जिसकी वजह से सभी सड़कें लगभग सुनसान पड़ी हैं।

सुबह-सुबह मौसम ख़ुशगवार था परंतु दोपहर से ऐसा प्रतीत होता है जैसे किसी क्षेत्र में माहमारी के कारण अकाल मृत्यु हुईं हों। दिल को भयभीत कर देने वाला सन्नाटा है। कुत्तों के भौंकने की भी आवाज नहीं आ रही है।

ईश्वर जाने आगे क्या होगा परन्तु आज रूह काँप जाती है आने वाले भयंकर मंजर को सोंचकर.......

देश की सम्पूर्ण जनता ने सराहनीय सहयोग दिया है परंतु कुछ लोग आज भी स्तिथि की गम्भीरता को नहीं समझ पा रहे या समझना नहीं चाहते जिसका खामियाजा सम्पूर्ण मानवजाति को भुगतना पड़ सकता है।

सोंचिये क्या होगा यदि किसी शहर क़ी सम्पूर्ण आबादी इस महामारी के चपेट में आ जाये ? एक फलता-फूलता शहर रातों-रात वीरान हो जाएगा। सबका कमाया हुआ धन-दौलत यहीं पड़ी रह जाएगी।सबका अहंकार यहीं रह जायेगा।

दोस्तों, आज के वक़्त को अपने रिश्तों को बुनने में ऊपयोग कीजिये। रिश्तों को समझिए, उनके महत्व को समझिए।
साथ बैठिए, पुराने और बचपन वाले खेल खेलिए। अंताक्षरी खेलिए,लूडो खेलिए, पत्ते खेलिए और भी तमाम खेल हैं ,खूब खेलिए और दिलों को जोड़िए।

मेरी बात को गाँठ बाँध लीजिए कि यही छोटी-छोटी यादें आपके जीवन में स्फूर्ति जगाएँगी। एक-दूसरे की मदद कीजिये ,खुश रहिए।

--ऋषभ सचान

नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावकः।
न चैनं क्लेदयन्तापि न शोषयति मारूतः।।

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

कोरोना (Corona) पर योगी सरकार का बड़ा फैसला, क्या होगा अब दिहाड़ी मजदूरों का?

योगी सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों के लिए एक फ़ैसला लिया है जिससे उन मजदूरों के पेट पर लात नहीं पड़ेगी।

Source:- Google & Hindustan paper

योगी सरकार ने एलान किया है कि सभी पंजीकृत मजदूरों को एक हजार रुपये एक निश्चित अवधि में दी जाएगी। DBT के जरिये पैसे भेजे जाएंगे। जो मजदूर पंजीकृत नहीं है, उनके लिए प्रत्येक कॉन्ट्रेक्टर को आदेश है कि वो उन मजदूरों को नियमित रूप से वेतन दें। सरकार उन कॉन्ट्रेक्टर को बाद में पैमेंट करेगी।

एक करोड़ 65 लाख लोगों को फ्री अनाज उपलब्ध कराने के तत्काल आदेश हैं राशन कोटेदारों के लिए।

यह योगी सरकार का बेहतरीन निर्णय है।

धन्यवाद भारत और उत्तर प्रदेश सरकार को

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

Narendra Modi का कोरोना से बचाव के लिए सन्देश, 22 मार्च ख़ास दिन भारतीय इतिहास में।

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र दामोदरदास मोदी जी का जनता के नाम सन्देश औऱ आग्रह ताकि देश कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से बचाया जा सके।



Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

Corona Virus - ले चुका है 1.5 लाख से ज्यादा लोगों को चपेट में। हल्के में न लें और समझें इसकी असलियत को।

“सारी दुनिया के लिए सन्देश,, जिन्हें ये पता नहीं है कि उनका सामना किस आपदा से होने वाला है”

यह मेरे facebook मित्र तबिश सिद्दीकी जी के द्वारा लिखा गया है। सम्पूर्ण मानवजाति की रक्षा और भारत वासियों को जल्द से जल्द आगाह करने के लिए मैं बिना किसी इजाजत के इसे अपने ब्लॉग में पोस्ट कर रहा हूँ।

तबिश सिद्दीकी की भाषा में,

ये ट्विटर थ्रेड (मैसेज श्रंखला) है इटली के लोगों की.. मैं इसे अपने हिंदी भाषी दोस्तों के लिए ट्रांसलेट कर रहा हूँ.. पढ़िए और समझिये कि हमारा और आपका सामना किस से होने वाला है

Source:- Google & Amar Ujala

अगर आप अभी भी अपने दोस्तों के साथ घूम  रहे हैं, होटल जा रहे हैं, पार्टी कर रहे हैं और ऐसे दिखा रहे हैं जैसे ये (कोरोनावायरस) आपके लिए कोई बड़ी मुसीबत नहीं है, तो आप बहुत बड़े भ्रम में हैं.. अपने आप को संभाल लीजिये.. नीचे का सारा मैसेज एक इटालियन लोगों के द्वारा पोस्ट किया गया है.. जो कुछ भी उन्होंने जैसा भी लिखा है उसे वैसा ही लिखा जा रहा है:

“सारी दुनिया के लिए सन्देश,, जिन्हें ये पता नहीं है कि उनका सामना किस आपदा से होने वाला है”

जैसा कि मैं समझता हूँ इस वक़्त सारी दुनिया को पता है कि इस वक़्त सारा इटली क्वारंटाइन किया जा चूका है.. यानि उसे पूरी तरह से बंद किया जा चुका है.. ये स्थिति बहुत बुरी है.. मगर उन लोगों के लिए ज़्यादा बुरी है जो ये सोचते हैं कि ये उनके साथ नहीं होगा

हमे पता है कि आप कैसा सोच रहे हैं.. क्यूंकि हम भी पहले ऐसे ही सोच रहे थे..

आईये देखें कि ये सब कैसे शुरू हुवा:

स्टेज प्रथम (पहला चरण):

आपको पता होता है कि कोरोना वायरस ऐसी कोई चीज़ है.. मगर आपके देश में ये अभी अभी दिखना शुरू हुवा है.. इसलिए आप सोचते हैं कि डरने की कोई बात नहीं हैं.. क्यूंकि ये बस एक तरह का ज़ुकाम है.. और वैसे भी मैं 75+ साल का हूँ  नहीं इसलिए मुझे इस से क्या डरना

फिर प्रथम चरण आगे बढ़ता है:

और आप सोचते हैं कि ये क्या हर कोई पागल  हो रहा है मास्क और टॉयलेट पेपर के लिए.. ऐसा कुछ तो होने वाला है नहीं.. मेरी ज़िन्दगी तो आराम से चलती रहेगी

फिर आता है..

स्टेज द्वितीय (दूसरा चरण)

धीरे धीरे..  देश में मरीजों की संख्या बढ़ने लगती है.. और सरकार एक दो शहरों कि सीमाएं प्रतिबंधित कर देती है.. और आपको ये समझाती है कि डरने की कोई बात नहीं है.. सब कुछ ठीक है (22 फ़रवरी को ऐसा इटली में हुवा था)

द्वितीय चरण यानि दूसरा चरण आगे बढ़ता है:

कुछ लोगों की  मौतें होती हैं.. मगर वो सब बूढ़े लोग होते हैं.. और मीडिया उस पर हाय तौबा मचाता है... हम सोचते हैं कि ये अच्छी बात नहीं है.. लोग अपने दोस्तों यारों से मिलते रहते हैं.. नार्मल ज़िन्दगी चलती रहती है.. और हमे ये लगता है कि हमे कुछ नहीं होगा

त्रित्तीय चरण (तीसरा चरण)

धीरे धीरे संक्रमित लोगों का आंकडा बढ़ने लगता है.. एक दिन में ही दुगने लोग संक्रमित हो जाते हैं.. मौतों का आंकड़ा बढ़ जाता है.. और सरकार चार बड़े इलाक़ों को प्रतिबंधित कर देती है जहाँ से सब से ज्यादा केस हैं (ये 7 मार्च को इटली में होता है).. फिर इटली के पच्चीस 25% लोगों को घरों में बंद कर दिया जाता है

फिर आता है..

स्टेज तृतीय (तीसरा चरण)

फिर कुछ क्षेत्रों में स्कूल, बार और रेस्टोरेंट बंद कर दिए जाते हैं.. मगर ऑफिस अभी भी खुले हैं.. सरकारी नियमों को मीडिया और अखबार पहले ही प्रकाशित कर देते हैं

स्टेज तृतीय आगे बढ़ता है:

इटली के क़रीब दस हज़ार लोग, जिन्हें दूसरे  इलाक़ों में सरकार ने रोक कर रखा था वो एक ही रात में वहां से निकलकर अपने अपने घर वापस पहुँच जाते हैं.. और इटली के लगभग पिछत्तर प्रतिशत लोग अपने रोज़मर्रा के कामों में व्यस्त रहते हैं

स्टेज तृतीय यानि तीसरा चरण और आगे बढ़ता है:

इटली के लोग अभी भी इस वायरस की आपदा नहीं समझ पा रहे हैं.. हर जगह इटली में लोगों को ये बताया जा रहा है कि थोड़ी थोड़ी देर में अपने हाथ धुलें.. लोग ग्रुप में या भीड़ में न खड़े हों.. टीवी पर हर दस मिनट में ये समझाया जा रहा है.. मगर ये बातें लोगों के दिमाग़ में नहीं बैठ रही हैं

फिर आता है..

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण):

इटली में हर जगह स्कूल और कॉलेज कम से कम  एक महीने के लिए बंद कर दिए गए हैं.. नेशनल हेल्थ इमरजेंसी लगा दी जाती है.. सारे अस्पतालों को ख़ाली करवा के कोरोनावायरस के मरीजों के लिए जगह बना दी जाती है

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) और आगे बढ़ता है:

अब इटली में डॉक्टर और नर्सों की कमी पड़ने लगी है.. अब जितने भी डॉक्टर रिटायर हो चुके हैं उन्हें भी वापस नौकरी पर बुला लिया जाता है.. जिस छात्रों कि डॉक्टरी की पढाई का दूसरा साल हुवा है उन्हें भी नौकरी पर बुला लिया जाता है.. किसी भी डॉक्टर और नर्स के लिए कोई भी शिफ्ट नहीं है.. चौबीस घंटे काम करना है सबको अब.. डॉक्टर और नर्स भी संक्रमित हो रहे हैं अब और  उन लोगों से उनके परिवारों को भी वायरस अपनी चपेट में ले रहा है

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) और आगे बढ़ता है:

अब निमोनिया के बहुत ही ज्यादा मरीज़ बढ़ गए हैं... और बहुत सारे लोगों को ICU की ज़रूरत है और अब ICU में सबके लिए जगह नहीं है.. इटली में अब वो स्थिति आ चुकी है जहाँ डॉक्टर अब सिर्फ़ उन्हीं का इलाज कर रहे हैं जिनके बचने की उम्मीद होती है.. मतलब अब बूढ़े, और अन्य बीमारियों से जूझ रहे लोगों का इलाज डॉक्टर नहीं कर पा रहे हैं क्यूंकि अब डॉक्टर को क्रोना  वायरस  वाले मरीजों को ही बचाना है.. क्यूंकि अब अस्पताल में सभी के लिए जगह नहीं बची है


स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) आगे बढ़ता है:

अब लोग मर रहे हैं क्यूंकि अस्पतालों और ICU में जगह नहीं है.. मेरे एक डॉक्टर दोस्त ने मुझे कॉल कर के बताया कि उसने तीन लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया क्यूंकि जगह नहीं थी.. नर्स रो रही हैं क्यूंकि वो मरते हुवे लोगों के लिए कुछ नहीं कर सकती हैं सिवाए उन्हें ऑक्सीजन देने के

मेरे एक दोस्त का रिश्तेदार कल मर गया क्यूंकि उसका इलाज नहीं हो पाया.. अब क्रोना वायरस हर तरफ़ पूरी तरह से फैल चुका है

फिर आता है..

स्टेज पांच (पाँचवाँ चरण):

याद कीजिये उन बेवकूफों को जिन्हें सरकार ने शुरुवात इटली के कुछ राज्यों में रोक के रखा था, क्वारंटाइन किया था मगर वो अपने अपने घर वापस चले आये थे? उन्हीं की वजह से अब सारी इटली को मार्च 9 को क्वारंटाइन कर दिया गया

अब सरकार का एक ही लक्ष्य है कि कैसे इसे ज्यादा से ज्यादा फैलने से रोका जाय

लोगों को अपने काम पर जाने दिया जा रहा है.. ज़रूरी सामान की खरीदारी करने दी जा रही है.. व्यापार सारे खोल के रखे गए हैं.. क्यूंकि अगर ऐसा न किया तो सारी इकॉनमी धराशायी हो जायेगी.. मगर अभी भी आप अपने इलाक़े से बाहर नहीं जा सकते हैं जब तक आपके पास उसके लिए कोई बहुत ज़रूरी वजह न हो

मगर अभी भी एक समस्या बनी हुई है.. क्यूंकि कुछ लोग समझते हैं कि उन्हें कुछ नहीं होगा.. वो अभी भी दोस्तों के साथ बाहर जा रहे हैं... घूम रहे हैं ग्रुप में.. शराब पी रहे हैं और ऐश कर रहे हैं

फिर आता है..

स्टेज छः (छठां चरण):

दो दिन पहले ये घोषणा कर दी गयी कि अब सारे व्यापार, शौपिंग माल, रेस्टोरेंट, बार और हर तरह की दुकाने बंद रहेंगी.. सिर्फ़ सुपर मार्केट और दवाखाने के अलावा.. और अब आप सिर्फ़ तभी अपने इलाके से कहीं बाहर जा सकते हैं अगर आपके पास उसकी कोई बहुत बड़ी वजह है और उसके लिए आपके पास एक सर्टिफिकेट होना चाहिए

उस सर्टिफिकेट में आपके बारे में सारी जानकारी होती है.. जिसमे आपका नाम, पता और आप कहाँ से आ रहे हैं और कहाँ जा रहे हैं ये लिखा होता है

जगह जगह पुलिस के चेक पॉइंट बने हैं जहाँ आपको चेक किया जाता है

इटली में अगर अब आप अपने घर से बाहर अब पकडे जाते हैं तो आपके ऊपर 206 पौंड का जुर्माना लगाया जाता है.. अगर आप बहार निकलते हैं और आप क्रोना वायरस से संक्रमित हैं तो आपको एक से लेकर बारह साल की जेल होगी

आख़िरी सन्देश:

ये मैं १२ मार्च को लिख रहा हूं और इस वक़्त तक के ये हालात है जो मैंने ऊपर बताया.. इसका ध्यान रखिये कि ये सब बस हमारे यहाँ दो हफ्ते के अंदर हो गया.. सिर्फ़ पांच दिन लगे स्टेज तीन से आज तक के दिन तक आने में हमे

दुनिया के दूसरे देश अभी धीरे धीरे उन चरणों में पहुँच रहे हैं जिनसे हम गुज़र चुके हैं.. इसलिए मुझे आप लोगों से ये कहना है कि “आपको कोई अंदाज़ा नहीं है कि आप के साथ क्या होने वाला है”

क्यूंकि दो हफ्ते पहले मैं आपके ही जैसा सोचता था और मुझे लगता था कि हमे कुछ नहीं होगा.. और ये सब इस वजह से नहीं हो रहा है कि ये वायरस बहुत खतरनाक है.. बल्कि ये सब इस वजह से हो रहा है कि ये वायरस ऐसी परिस्थितियां पैदा कर देता है जिसका सामना करने में हम सक्षम नहीं हैं

ये देख कर बहुत दुःख हो रहा है क्यूंकि कुछ देश ये सोच रहे हैं कि उनको कुछ नहीं होगा.. और वो इसके लिए ज़रूरी बचाव नहीं कर रहे हैं.. जबकि वो समय रहते अगर बचाव कर लें तो बहुत फायदा होगा

इसलिए.. कृपया अगर आप इसको पढ़ रहे हैं तो सजग हो जाईये.. क्यूंकि इसको इग्नोर करने पर इस समस्या का हल नहीं निकलेगा.. अमेरिका जैसे देशों में ऐसे कितने लोग होंगे जो संक्रमित होंगे और उनका पता नहीं चल पाया होगा

हमारी इटली की सरकार ने इस बारे में बहुत अच्छा काम किया.. और वो ये किया कि उन्होंने पूरी कोशिश की अब इस वायरस को जहाँ भी हो रोक दिया जाए.. उसके लिए उन्हें बहुत कठोर क़दम  उठाये मगर वो सही थे.. चाइना ने भी इस तरह से इस पर क़ाबू पाया था... सारे इलाके बंद कर के लोगों को घरों में क़ैद कर दिया था

सरकार लोगों की मदद कर रही है.. उनके बैंक की किश्त माफ़ करके और लोगों के व्यापार में मदद कर के.. मुझे ये चीज़ परेशान कर रही है कि अगर ये सारे देशों में हो गया तो क्या होगा

इसलिए अगर आप ऐसे इलाक़े में हैं जहाँ आपके आसपास क्रोना वायरस से संक्रमित मरीज़ हैं.. तो आप बस एक या दो हफ्ते हम से पीछे हैं.. और आप हमारी सारी बातों को धीरे धीरे समझेंगे.. इसलिए मेरी आप लोगों से यही गुजारिश हैं कि आप अपना बचाव ख़ुद करें.. और ऐसा व्यवहार मत कीजिये कि आपको कुछ नहीं होगा.. इसलिए अगर आप रह सकते हैं तो “घरों में ही बंद रहिये”

समाप्त
( @JasonYanowitz के twitter अकाउंट की मैसेज श्रंखला से अनुवादित )

~ताबिश

ये है तबिश जी की पोस्ट का लिंक:-

https://bit.ly/39XXxPk


कृपया इसे जरूर पढ़ें और सावधान रहें। आपकी सतर्कता ही आपका बचाव है।

Corona Virus - इसके लक्षण, बचाव व सावधानियाँ।


Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

जानिए Feminism और Communism सचान जी के द्वारा आसान शब्दों में ।

Feminism और Communism समझें बहुत ही आसान शब्दों में। नए समाज की वह विधा जिसमें हर काम में उंगली करना सिखाया जाता है उसे Feminism और Communi...