Saturday, June 22, 2019

बैंकिंग सुविधाओं के जरिये होने वाली जालसाजियों से कैसे बचें ?

How to avoid Financial Frauds over the fake calls ?



दोस्तों, आजकल एक नए तरीके की जालसाजी(Fraud) का चलन आया है। वैसे तो जालसाजी करने वाले लोग नित नई तरकीबें खोजते रहते हैं लेकिन ये तरीका बिल्कुल नया है जिसमें तकनीकी रूप से सक्षम (Tech Savvy) लोगों के फँसने की भी गुंजाइश है।

वैसे तो तकनीक और विज्ञान ने हमें ऐसे-ऐसे उपकरण और सुविधाएं दी हैं जिनसे हम अपनी जिंदगी को आसान बना सकें लेकिन उन्हीं साधनों का उपयोग करके कुछ लोग हमारी ज़िंदगी को परेशानी में डाल देते हैं और हमारा नुकसान कर देते हैं।

हमारे देश हिंदुस्तान में अभी साइबर अपराधों (Cyber Crime) को रोकने की पुख्ता व्यवस्था नहीं है तो बेहतर यही है कि हम थोड़ा सजग रहें और वैसे भी किसी ने कहा है -- "दुर्घटना से सावधानी भली"।

ये नया cyber crime किया जा रहा है AnyDesk Remote Control App के माध्यम से। वैसे तो ये app बहुत ही उपयोगी है किसी के मोबाइल या लैपटॉप को सही करने में जब उयोगकर्ता आपके दिए instructions को ना समझ पाए लेकिन जालसाजों ने इसका उपयोग आपके accounts से पैसे निकालने के लिए भी शुरू कर दिया है।

एक ऐसी घटना घटी है अभी हाल ही में जिसमे एक प्रसिद्ध कैब संचालक कम्पनी के ड्राइवर के द्वारा ग्राहक से ज्यादा पैसे लिए गए। जिसकी शिकायत करने के लिए ग्राहक ने कम्पनी की ग्राहक सेवा(Customer Service) को कॉल किया। उन्हें वहां से कोई मदद नहीं मिली लेकिन कॉल कटने के कुछ समय पश्चात उन्हें किसी व्यक्ति का कॉल आया जिसने खुद को cab company का प्रतिनिधि बताया और कहा कि वो उनके रुपये वापस कर रहा है।
उसने ग्राहक को उसका क्रेडिट कार्ड नम्बर ,एक्सपायरी डेट और cvv code देने को कहा जो कि ग्राहक ने उसे दे दिया। ये ग्राहक की सबसे बड़ी गलती थी।
उसके बाद उस व्यक्ति ने ग्राहक को anydesk remote control app download करवाया और key share करने को कहा। key शेयर करते ही ग्राहक के मोबाइल का access उस जालसाज व्यक्ति के पास आ गया जिससे उस व्यक्ति ने लगातार कई transactions करके लगभग 1.5 लाख से ज्यादा रुपये उड़ा दिए।

ये तो था घटना का संक्षिप्त विवरण।

तो यहाँ पर कुछ विशेष सावधानी हर व्यक्ति को बरतनी चाहिए।

किसी भी हाल में अपना बैंक एकाउंट, क्रेडिट और डेबिट कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट ,और cvv कोड किसी भी व्यक्ति से साझा ना करें।
बैंक या अन्य कोई कम्पनी आपसे ये जानकारियाँ कभी नहीं मांगते हैं।
।अगर किसी भी परिस्थिति में वो माँगते भी हैं तो सिर्फ कार्ड के अंतिम चार अंक और कार्ड कब जारी (Issue date) हुआ था।

वैसे भी कभी भी आपको कोई समस्या हो तो सीधे बैंक या उस कंपनी के कस्टमर सर्विस को उनके आधिकारिक ( Official) नंबर पर स्वयँ सम्पर्क करिये।

तो दोस्तों ये जानकारी स्वयं भी अमल में लाइये और अपने दोस्तों और परिवारी जनों से भी साझा (Share) कीजिये ताकि कोई भी इस तरह की जालसाजी में ना फँसे।

धन्यवाद।

Image credit goes to Google and Livemint.

You may also like :

How do I poke someone on facebook?

Salmaan Khan Slapped ?

जीवन अभी बाकी है-