क्या होगा भविष्य में ?? क्या होगा इस महामारी से जंग जीतने के बाद??

ईश्वर जाने आगे क्या होगा परन्तु आज रूह काँप जाती है आने वाले भयंकर मंजर को सोंचकर.......


आज पूरे देश में जनता कर्फ़्यू है जिसकी वजह से सभी सड़कें लगभग सुनसान पड़ी हैं।

सुबह-सुबह मौसम ख़ुशगवार था परंतु दोपहर से ऐसा प्रतीत होता है जैसे किसी क्षेत्र में माहमारी के कारण अकाल मृत्यु हुईं हों। दिल को भयभीत कर देने वाला सन्नाटा है। कुत्तों के भौंकने की भी आवाज नहीं आ रही है।

ईश्वर जाने आगे क्या होगा परन्तु आज रूह काँप जाती है आने वाले भयंकर मंजर को सोंचकर.......

देश की सम्पूर्ण जनता ने सराहनीय सहयोग दिया है परंतु कुछ लोग आज भी स्तिथि की गम्भीरता को नहीं समझ पा रहे या समझना नहीं चाहते जिसका खामियाजा सम्पूर्ण मानवजाति को भुगतना पड़ सकता है।

सोंचिये क्या होगा यदि किसी शहर क़ी सम्पूर्ण आबादी इस महामारी के चपेट में आ जाये ? एक फलता-फूलता शहर रातों-रात वीरान हो जाएगा। सबका कमाया हुआ धन-दौलत यहीं पड़ी रह जाएगी।सबका अहंकार यहीं रह जायेगा।

दोस्तों, आज के वक़्त को अपने रिश्तों को बुनने में ऊपयोग कीजिये। रिश्तों को समझिए, उनके महत्व को समझिए।
साथ बैठिए, पुराने और बचपन वाले खेल खेलिए। अंताक्षरी खेलिए,लूडो खेलिए, पत्ते खेलिए और भी तमाम खेल हैं ,खूब खेलिए और दिलों को जोड़िए।

मेरी बात को गाँठ बाँध लीजिए कि यही छोटी-छोटी यादें आपके जीवन में स्फूर्ति जगाएँगी। एक-दूसरे की मदद कीजिये ,खुश रहिए।

--ऋषभ सचान

नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावकः।
न चैनं क्लेदयन्तापि न शोषयति मारूतः।।

Friends, If you like this post,Kindly comment below the post and do share your response. Please don't forget to follow and subscribe this blog. Thanks for reading:)

No comments:

नरेन्द्र मोदी:- नए भारत के राष्ट्र निर्माता

हे भारत के राष्ट्र निर्माता,   मोदी तुमको नमन करूँ,     जन्मदिन की मैं ढेर बधाई,       अपने राष्ट्र संग भेंट करूँ, 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 2014 म...